प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना क्या है?

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना क्या है?

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना
प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना की शुरुआत और दीनदयाल ऊर्जा भवन का भी उद्घाटन किया दीनदयाल उपाध्याय जयंती के शुभ अवसर पर श्री नरेंद्र मोदी जी ने अपने ट्वीट  में लिखा है और उसमें लिखा है सौभाग्य बिजली के विषय में मोदी जी के ट्वीट का हिंदी रूपांतरण हम आपको दे रहे हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने अपने ट्वीट में लिखा भारत के पावर सेक्टर को बूस्ट करने के लिए इस स्कीम को लॉन्च कर रहे हैं संक्षेप में आपको यदि हम बताएं तो जो 2011 में पहली बार Socio-Economic Caste Census-2011 base पर जनगणना की गई थी तो जिन मित्रों के नाम इस लिस्ट में है और जिनके घर में बिजली की सुविधा नहीं पहुंची थी उन्हें मुफ्त में बिजली का कनेक्शन नरेंद्र मोदी जी प्रोवाइड करेंगे

आगे लिखा है जो प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना है जिसमें गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले तीन करोड़ लोगों को रसोई गैस कनेक्शन प्रदान किए जाते हैं उसके लिए भी socio-economic census 2011 का use किया जाता है दूरदराज के इलाकों में जहां बिजली का तार आना संभव नहीं है वहां पर सौभाग्य स्कीम के अंतर्गत सोलर पर उपलब्ध कराया जाएगा उस पर अटैक के अंतर्गत एक घर मेंपांच बल्ब, एक पंखा, एक DC Power Plug और 5 वर्ष के लिए फ्री रिपेयर और मेंटेनेंस सर्विस उपलब्ध कराई जाएगी

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना की कुछ महत्वपूर्ण बातें

  • सभी तैयार घरों में बिजली की पहुँच (करीब 2 से 2.5 करोड़ लोग इससे लाभान्वित होंगे)
  • यह योजना गाँव और शहर दोनों के लिए है.
  • दोनों ही जगहों पर जो गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोग हैं, जिनके घर में बिजली नहीं हैं, यह scheme उनके लिए है.
  • केरोसिन (Kerosene) का प्रतिस्थापन
  • शैक्षिक सेवाओं में सुधार
  • सार्वजनिक सुरक्षा में सुधार
  • नौकरी के अवसरों में वृद्धि
  • स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार
  • संचार व्यवस्था में सुधार
  • जीवन की बेहतर गुणवत्ता, विशेष रूप से दैनिक काम में महिलाओं के लिए

प्रधानमंत्री सौभाग्य स्कीम में कौन-कौन से राज्य शामिल हैं?

अभी इस स्कीम में (Saubhagya Scheme) बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, ओडिशा, झारखण्ड, जम्मू और कश्मीर, पूर्वोत्तर राज्यों और राजस्थान के लिए उपलब्ध है.सुदूर क्षेत्रों के लिए Battery Bank और Solar Power Pack उपलब्ध है भारत में जो दुर्गम क्षेत्र हैं यानी जहाँ बिजली तो दूर, आना-जाना मुश्किल है वहां सरकार हर परिवार को Battery Bank यानी 200 से 300 WP का Solar Power Pack पहुँचाएगी.

सौभाग्य स्कीम के अंतर्गत चीजें 

  • 5 LED Lights
  • एक DC Fan
  • एक DC Power Plug
  • 5 वर्ष के लिए free repair service
राज्यों/संघ राज्य-क्षेत्रों से आवास बिजलीकरण का काम 31 मार्च, 2019 तक पूर्ण करने का लक्ष्य है.
योजना के अंतर्गत अतिरिक्त अनुदान (ऋण अंगभूत का 50% यानी विशेष श्रेणी के राज्यों हेतु 5% और दूसरे राज्यों हेतु 15%) 31 दिसम्बर, 2018 तक सभी इच्छुक आवासों का 100% electrification का कार्य पूरा किया जायेगा.बिजली के निःशुल्क connections को चाहने वाले लोगों की पहचान उनके सामाजिक आर्थिक जनगणना (Socio-Economic census) 2011 को आधार बनाकर की जायेगी. वैसे जो eligible people 2011 की जनगणना में शामिल नहीं हैं, वे 500 रू. का भुगतान करके शामिल हो सकते हैं. इस राशि को बिजली वितरण कम्पनियों द्वारा उनसे 10 किश्तों में वसूला जायेगा.

shobhagya yojana
प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना


लाभार्थियों की पहचान के लिए मोबाइल app का प्रयोग किया जायेगा. बिजली connection का application letter और आवेदन करने वालों का photo-id etc. की सूचना मौके पर ही दर्ज की जाएगी.Rural Electrification Corporation Limited (REC) को सौभाग्य योजना (Saubhagya Scheme) को पूरे देश में फैलाने और लागू करने के लिए Nodal Agency recruit किया गया है.

इस योजना के वित्तीय पहलू

इस योजना में सरकारी कुल खर्च = 16, 320 करोड़ रू. सरकारी बजटीय सहायता = 12, 320 करोड़ रू.
ग्रामीण आवास व्यय = 14025 करोड़ रु. सरकारी बजटीय सहायता = 10, 587.50 करोड़ रु.
शहरी आवास व्यय = 1732.50 करोड़ रु. सरकारी बजटीय सहायता = 2295 करोड़ रु.

Post a Comment

1 Comments